श्रद्धा-भक्ति

एक बार की बात है तीनों लोकों के भ्रमण में निरत दिव्यदर्शन देवर्षि नारद जी स्वेच्छानुसार पर्यटन...
विष्णु वंदना : शान्ताकारं भुजगशयनं पद्मनाभं सुरेशं विश्वाधारं गगनसदृशं मेघवर्ण शुभाङ्गम्। लक्ष्मीकान्तं कमलनयनं योगिभिर्ध्यानगम्यम् वन्दे विष्णुं भवभयहरं...
विवाह सहित अन्य सभी प्रकार के मंगल पूजा इत्यादि कार्य करने के बाद सामर्थ्य होते हुए भी...
01. माता सरस्वती (विद्या की देवी ब्रह्मा की पत्नी)। 02. माता सरस्वती (ब्रह्मा-सावित्री की पुत्री)। 03. सावित्री...
संघ के विचारक रहे देवेन्द्र स्वरूप जी विद्वान थे। 2019 में उन्हें पद्मश्री भी मिला था। वह...
हमारे शास्त्रों में मुख्य रूप से भगवान विष्णु के 24 अवतारों का वर्णन आता है इन सभी...
  अंगिरा ऋषि – ऋग्वेद के प्रसिद्ध ऋषि अंगिरा ब्रह्मा के पुत्र थे। उनके पुत्र बृहस्पति देवताओं...
  सुखकर्ता दुखहर्ता वार्ता विघ्नचि I नुरवी पूर्वी प्रेम कृपा जयाची I सर्वांगी सुंदर उति शेंदुराची I...