अध्यात्म

एक बार की बात है तीनों लोकों के भ्रमण में निरत दिव्यदर्शन देवर्षि नारद जी स्वेच्छानुसार पर्यटन...
विष्णु वंदना : शान्ताकारं भुजगशयनं पद्मनाभं सुरेशं विश्वाधारं गगनसदृशं मेघवर्ण शुभाङ्गम्। लक्ष्मीकान्तं कमलनयनं योगिभिर्ध्यानगम्यम् वन्दे विष्णुं भवभयहरं...
ज्योतिर्मठ शंकराचार्य अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती ‘१००८’ महाराज ज्योतिर्मठ में हो रहा है एक हज़ार कन्याओं का पूजन कार्यक्रम...
इजरायल, अमेरिका और आस्ट्रेलिया से कुछ सनातन-प्रेमी लगातार “श्रीविष्णु धर्मोत्तर महापुराण” की मांग करते रहते हैं। हालाँकि,...
हमारे हिन्दू धर्म ग्रंथो वाल्मीकि रामायण, महाभारत आदि में कई ऐसे पात्रों का वर्णन है जिनका जन्म...
योगवशिष्ठ में एक बहुत महत्वपूर्ण आख्यायिका आती है। यह उपाख्यान जीवन के उद्देश्य रहस्यों और मृत्यु के...
  अंगिरा ऋषि – ऋग्वेद के प्रसिद्ध ऋषि अंगिरा ब्रह्मा के पुत्र थे। उनके पुत्र बृहस्पति देवताओं...